You are here
Home > फतहनगर - सनवाड > नमन यात्रा का हुआ आगाज,आज होगा पावनधाम प्रवेश

नमन यात्रा का हुआ आगाज,आज होगा पावनधाम प्रवेश

Spread the love

http://www.fatehnagarnews.com

शाम को जमेगी सांस्कृतिक संध्या,देश के विभिन्न भागों से पहुंचे श्रद्धालु
फतहनगर। हाड़ कंपा देने वाली सर्दी है कि कम होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसे में भी मेवाड़ संघ शिरोमणी पूज्य प्रवर्तक गुरूदेव श्री अम्बालाल म.सा. के रजत स्मृति समारोह के तहत आयोजित नमन यात्रा में शिरकत करने वालों की तादाद में कमी नहीं हुई है। नमन यात्रा का मंगलवार को अम्बेश मुनि की जन्म स्थली थामला से धूमधाम से आगाज किया गया। नमन यात्रा में शामिल होने के लिए सोमवार की शाम तक गुजरात समेत विभिन्न स्थानों से नमन यात्री थामला पहुंच गए। शाम को सांस्कृतिक संध्या के बाद सुबह नमन यात्रा का आगाज किया गया। इस मौके पर नमन यात्रा के पदाधिकारियों के अलावा पावनधाम संस्थान के अध्यक्ष मनोहरलाल लोढ़ा,पावनधाम प्रमुख प्रकाशचन्द्र सिंघवी,महामंत्री दिनेश सिंघवी,मंत्री बलवन्तसिंह हिंगड़,नरेश लोढ़ा,पावनधाम उपाध्यक्ष नेमीचंद धाकड़ समेत कई प्रमुख समाजजन मौजूद रहे।

8fats3

नमन यात्रा में पुरूषों के साथ ही महिलाएं एवं युवतियों ने भी शिरकत कर नमन यात्रा को यादगार बना दिया। मेवाड़ संयुक्त महिला मण्डल उपाध्यक्ष श्रीमती उषारानी सेठिया के नेतृत्व में महिलाओं के एक बड़े समूह ने भी नमन यात्रा में शिरकत की। मावली विधायक धर्मनारायण जोशी भी शुभारंभ अवसर पर पहुंचे। सालोर में रात्रि विश्राम एवं कवि सम्मेलन के बाद बुधवार की सुबह फलीचड़ा के लिए प्रस्थान होगा। फलीचड़ा में श्रीसंघ द्वारा सुबह नमन यात्रियों के लिए नवकारसी की व्यवस्था की गई है। नमन यात्रा सेवा संस्थान गुजरात के उपाध्यक्ष नीतिन सेठिया के अनुसार यहां से नमन यात्रा जेवाणा होते हुए सनवाड़ महावीर फिलिंग स्टेशन पर आयोजित सेठिया परिवार की गौत्तम प्रसादी का लाभ लेगी। शाम को नमन यात्रा का नगर एवं पावनधाम में प्रवेश होगा।
इधर पावनधाम में आज दिनभर चहल पहल रही। लोगों का पावनधाम पहुंचना प्रारंभ हो गया है। सुबह आयोजित व्याख्यान में भी स्थानीय एवं विभिन्न स्थानों से आए श्रावक-श्राविकाओं ने विराजित संतों की वाणी का लाभ लिया। पावनधाम के पदाधिकारियों ने मुख्य समारोह को लेकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। श्रमण संघीय महामंत्री सौभाग्यमुनि ने भी पावनधाम का भ्रमण किया तथा की जा रही व्यवस्थाओं को देखा एवं आवश्यक सुझाव दिए। रजत समारोह होने से इस बार बड़ी तादाद में लोग स्वामी वात्सल्य का लाभ लेने वाले हैं। समारोह में सानिध्य प्रदान करने के लिए भी कई संत-साध्वियां पावनधाम पधार चुके हैं।

8fats2

Leave a Reply

Top
Hit Counter
Hit Counter